• HOME
  • Poem & Shayari
एक कश...
धुएँ की एक कश लेते हैं, चल यार सिगरेट पीते हैं।
समय से चुरा के कुछ वक़्त, कु [Read More...]