• HOME
  • BLOG DETAIL
Suraj Kumar Goel

Suraj Kumar Goel

आजकल लेने देने की बात बहुत ज्यादा हो रही है, तो मेरा कहना है की आखिर भ्रष्टाचार ऐसी क्या चीज है  जिसका कुछ ले दे कर पत्ता नहीं काटा जा सकता है ???

हमसभी जानते है की आज हमारे देश की सबसे बड़ी प्रॉब्लम भ्रष्टाचार है, चाहे वो काले धन को लेकर हो या फिर लोकपाल बिल हो. लोकपाल बिल के बारे में तो मेरी उतनी समझ नहीं है, पर काले धन के बारे में लोग कहते है की यदि बिदेश से सारा काला धन भारत आ जाएगा तो देश की गरीबी ख़तम हो जाएगी, उसी समय मुझे Knock  Out फिल्म की याद आती है की केसे हमारे संजू बाबा (Sanjay Dutt) ने बिदेसो से ब्लैक मनी इंडिया मंगवाया था …अजी छोरी, ये तो हुई फिल्म की बात ..क्या रियल में एसा संभव है?? क्या काला धन इंडिया आने से  गरीबी दूर हो जाएगी ????

भ्रस्ताचार कहाँ से सुरु हुई है, ये कोई नहीं जानता, पर हम सभी भ्रस्ताचार से घिरे हुए है. पहले तो ये समझना होगा की भ्रस्ताचार कोई एक दिन की बात नहीं है .भ्रस्ताचार सिर्फ काली  कमी को नहीं कहा जा सकता. भ्रष्टाचार एक सामाजिक बुरे है.

 

आज हमारे देश के कुछ लोग भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठा रहे है तो कुछ लोग उसे दबाने की कोसिस भी कर रहे है, या एसा कह सकते है की उन्हें कोई परवाह ही नहीं है की देश में  का हो रहा है ….अरे एक बहुत ही पढ़े लिखे आदमी ने तो ये भी कहा की ये सब पोलिटिक्स है, यहाँ ले दे कर सब मामला ख़तम हो जाएगा.. पर मैं कहता हूँ की कुछ ले दे कर उस आदमी का तो मुहबंद  किया जा सकता है, पैर क्या ये भ्रष्टाचार ख़तम हो सकता है??????? नहीं न, तो फिर किओं हम कुछ लेने देने में बिस्वाश रखें?? आज हम सभी को मिलकर इस  भ्रष्टाचार को ख़तम करना होगा ..

यदि भ्रषाचार ख़तम करना है तो लेने देने की कोई गुन्जाईस नहीं होनी चाहिए ……..