• HOME
  • BLOG DETAIL
Suraj Kumar Goel

Suraj Kumar Goel

तो प्रस्तुत है कहानी टीम RCB की, शायद भविष्य में इस कहानी पे फिल्म भी बन जाए...पर रिव्यु देने का काम हम अभी के किये देते है।


--------------------------------------------

ओनर - विजय माल्या

कोच - डेनियल विटोरी

कप्तान - माननीय श्री श्री 108 विराट कोहली जी

--------------------------------------------

अभी कुछ दिन पहले गौतम गंभीर ने कहा था कि दिल्ली के लड़को में एग्रेशन बहुत ज्यादा है। उसने अपने और कोहली के बारे बात करते हुए बताया था। गंभीर की अच्छी बात यह है कि उसने सफलता को सर पर चढ़ा कर नहीं रखा। उसके जितने भी टीम मेट हैं वो सभी अपने करियर को लेकर जूझ रहे हैं। तो सभी ये साबित करने में लगे हैं कि वो आज भी अच्छा कर सकते हैं।

 

ठीक इसके विपरीत विराट कोहली हैं। भारतीय टीम के कप्तान और वर्तमान में सबसे प्रभावी बल्लेबाज़। लेकिन इस लड़के ने सबको बहुत हलके में लिया है और ऐसा मान बैठा है कि शायद इसे देख कर या डरकर कोई गेंदबाज वाइड के साथ चार रन भी दे देगा।

 

सबसे पहले तो आईपीएल जैसे लीग में ये बात स्वीकार लेनी चाहिए कि कोई बड़ा या छोटा खिलाड़ी नहीं होता है। आप निःसंदेह सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज़ हैं , लेकिन इसका ये मतलब कतई नहीं कि आप जबरन नम्बर एक पर बल्लेबाजी पर आओ और खुद को ऐसे शो करो जैसे दो दशक से आपको किसी ने आउट ना किया हो।

 

आप सर्वश्रेष्ठ हैं लेकिन नम्बर तीन पर। आपको केदार यादव और मंदीप को आगे लाना चाहिए। गेल बिसंबिस का पर्यायवाची है। सभी कप्तान की पहली रणनीति उसी के लिए बनती है। इसलिए जब आपको मालूम है कि वो हैवान बल्लेबाज़ किसी भी गेंद को बाउंडरी से बाहर कर सकता है तो उसे डेथ ओवर में उतारना चाहिए।

 

दरअसल में कोहली मन ही मन और बहुत तेजी से सबकुछ कर लेना चाहते हैं। उसे लगने लगा है कि शायद इसके बाद कोई क्रिकेट नहीं खेलेगा। इसलिए सारे रिकॉर्ड अपने नाम कर लो।

 

दिक्कत ये भी है कि आपको बोलने का हक़ रखने वाला मालिक फरार है। वरना पंजाब को ऐसे परफॉर्मेन्स के लिए 5 स्टार होटल से हज़ार रुपये में मिलने वाले कमरे में रखा गया था।

 

आईपीएल 10 ख़त्म होने को है और आप शुरू से सबसे अच्छा बैटिंग लाइनअप रखते हो। इतने सालों में नेहरा जी 8 साल बाद वापसी कर लिए लेकिन आपकी सद्बुद्धि बॉलीवुड के पास अटकी है।

 

लीडरशिप तो त्याग से ही बनती है और टीम भी। आपने जो रवैया अपनाया है इससे ये तो नहीं लगता कि कभी आईपीएल जीतोगे।

 

चैंपियंस ट्रॉफी के लिए शुभकामनाएं। उम्मीद है कि धोनी भैया को 6 नम्बर के बजाय आगे खेलने का मौका दोगे।

 

रेटिंग - एक 5 स्टार