• HOME
  • BLOG DETAIL
Suraj Kumar Goel

Suraj Kumar Goel

कल यानी, 4 नवम्बर 2017 को "World Food India Event" के दौरान दिल्ली में 918 kg खिचड़ी बना कर भारत ने गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज़ कर लिया।

वैसे खिचड़ी से दोस्ती हमारी बहुत ही पुरानी है, और हो भी क्यों ना, Maggi के बाद खिचड़ी ही तो मिनटों में बन जाता है।

सुनने में आया था कि खिचड़ी को National Food घोषित किया जाएगा, पर अफसोस ऐसा ना हो पाया। शायद इसीलिए कि अगर कोई भारतीय खिचड़ी खाने से मना कर देता तो उसे देशद्रोही माना जाता।

लेकिन जो भी हो, मेरे बिचार से अगर खिचड़ी International level पर भारत का प्रतिनिधित्व करती तो अच्छा रहता, काम से काम दुनियावाले को यहाँ के Bachelors के सहनशक्ति का पता तो चलता और कुछ सहानुभूति भी मिलती।

नौकरी ना मिले तो खाने के पैसे नहीं, नतीजा सुबह-शाम खिचड़ी। नौकरी मिल जाए तो खाना बनाने का टाइम नहीं, नतीजा सुबह-शाम खिचड़ी।

यकीन मानिए अगर खिचड़ी को National Food घोषित कर दिया जाए तो हम Bachelors सच्चे देशभक्त साबित होंगे।

लेकिन जो नहीं हुआ उस पर बक-बक करने का कोई मतलब नहीं। सोच रहा हूँ कि शादी ही कर लूँ, शायद बीबी खिचड़ी के अलावा कुछ और भी बना कर खिला दे।

और जाते जाते...

"खिचड़ी के चार यार, दही पापड़ घी अचार"